Long Poems

जाते जाते

जाते जाते कल ,यहीं थम गया था वक़्त ।पुकारना चाहता था तुम्हें ,मगर किस नाम से पुकारे ,इसी कश्मकश में ,कल यहाँ बिखर गया था वक़्त ।तुम बहुत आगे निकल गए थे शायद ,तेरे पीछे आने की चाहत में ,मेरे पाँव में कल धँस गया था वक़्त ।

मृत्यु, bonsai tree
Philosophy

मृत्यु

” मृत्यु को जीवन का अंत समझ लेना हमारे अंदर मृत्यु के प्रति भय को जन्म देता है , और इस भय से होती है मोह की उत्पत्ति , और मोह से उत्पन्न होती है कर्मों की उलटी गिनती “ Hindi Poetry by Nikhil KapoorBlog: Lamhe Zindagi Ke Social Media LinksFacebookInstagramYoutube

मैं, bedding
Short Poems

मैं

” मैं जिस्म नहीं हूं ,मैं जां भी नहीं हूं ,मैं दिल भी नहीं ,मैं खुदा भी नहीं हूं ,मैं लम्हा हूं बस एक जो जिया था तुमने ,तुम्हारे जिस्म से बहे पसीने की सांसों में मैं हूं ,वो चादर की सिलवटों में लिपट के जो सोया ,वक़्त की दो सुइयों की एक लम्हे की चाहत […]

Hindi poetry titled अजीब सा खालीपन हैं
Short Poems

अजीब सा खालीपन हैं

अभी अभी पढ़ के एक दिन फाड़ा हैबचे हुए टोस्ट के टुकड़े खाली प्लेट में अब भी पड़े हैअजीब सा खालीपन हैंयादों की गुल्लक इतनी भर गयी है शायद कितना भी हिलाओ ये अब बजती नहीं। Hindi Poetry by Nikhil KapoorBlog: Lamhe Zindagi Ke Social Media LinksFacebookInstagramYoutube

उम्र के निशान ,red rose on the streets. Lamhe Zindagi Ke, Hindi Poetry on Life
Long Poems

उम्र के निशान

Poem: उम्र के निशान ” इंद्रधनुषी रंगों से भरे , बुलबुले से सपने , रात की नाभि पर ,नींद भर लट्टूओं सा नाचते रहे ।सुबह की उंगली क्या लगी ,फूट कर अंधेरों में जा घुले ।दिन उड़ाता रहा शाम तलक उम्मीद की पतंगें , सपनों के इंद्रधनुषी मांजे शाम तलक उंगलियां काटते रहे ।शाम एक मां की तरह दिन को थपकियां […]

"मौत""जिंदगी" cremation of dead body
Short Poems

“मौत”-” जिंदगी”

आदतन “मौत” एक कहानी लिखने बैठी,बिखरने लगे जब पन्ने सारे,हसरत की जिल्द में बाँध उनको,“बेखयाली” में नाम की जगह ” जिंदगी” लिख बैठी | Hindi Poetry by Nikhil KapoorBlog: Lamhe Zindagi Ke Social Media LinksFacebookInstagramYoutube Channel

अक्स - An Abstract Painting
Long Poems

अक्सर

“अक्सर ,कुछ बातें अधूरी रह जाती ,दौड़ते हुए दिन के एक पल के इंतजार में ,बीत जाती है रात ,थके हुए सपनों के पांव को सहलाने में , अक्सर ,कुछ रिश्ते बैठे रह जाते हैं अधूरे ,अपने घर की चौखट के बाहर ,एक नेमप्लेट के इंतजार में ,अक्सर होता है ऐसा , अक्सर , सूखी हुई कुछ कलियां […]

Yaadein , couple holding hands
Youtube Videos

Yaadein – Hindi Poetry

Yaadein is a Hindi Poetry on life and memories of ones close to us. Watch this video and other videos on my youtube channel – Nikhil Kapoor Transcription of the video:- गई रातशाम बहुत देर तकचाँद के पन्ने पलटती रही“वजह-बेवजह” जाने क्यूँ तुम बहुत“याद आते रहे”बिखर गयीं हैतुम्हारी कुछ बातेंदहलीज़ पर नम होकरसूख जाएँगी खुद […]